Advertisements

जीवनी अनुज नय्यर, अनुज नय्यर (कैप्टन) जीवन परिचय, अनुज नय्यर परिवार, अनुज नय्यर करियर, अनुज नय्यर आर्मी ऑफिसर, अनुज नय्यर आयु, अनुज नय्यर पत्नि, अनुज नय्यर पुरस्कार, अनुज नय्यर ऑपेरशन (Anuj Nayyar Jiwan Parichay, Anuj Nayyar Biography in Hindi)

कैप्टन अनुज नय्यर, एमवीसी 17 जाट के एक भारतीय सेना अधिकारी थे, जिन्हें कारगिल युद्ध मे संचालन के दौरान युद्ध में अनुकरणीय वीरता के लिए भारत के दूसरे सर्वोच्च वीरता पुरस्कार महा वीर चक्र से 1999 में सम्मानित किया गया था. 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान इन्होंने खुद को देश के लिए शहीद कर दिया.

anuj-nayyar-biography-in-hindi

अनुज नय्यर जीवन परिचय (Anuj Nayyar Jiwan Parichay)

पूरा नाम- अनुज नय्यर
उपनाम- कैप्टन
व्यवसाय- भारतीय आर्मी ऑफिसर
जन्म तिथि- 28 अगस्त, 1975
जन्म स्थान- दिल्ली, भारत
मृत्यु- 7 जुलाई, 1999
मृत्यु स्थान- 2nd पिम्पल काम्प्लेक्स, कारगिल, जम्मू & कश्मीर, भारत

Advertisements

अनुज नय्यर का जन्म 28 अगस्त 1975 को दिल्ली में हुआ था और वहीं पले बढ़े भी हैं. उनके पिता एस के नय्यर, दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनिमिक्स में विजिटिंग प्रोफेसर के रूप में काम करते थे. उनकी मां मीना नय्यर, दिल्ली विश्वविद्यालय के साउथ केंपस लाइब्रेरी के लिए काम करती थी. कैप्टन नय्यर ने अपनी स्कूली शिक्षा आर्मी पब्लिक स्कूल नई दिल्ली से पुरी की. ये 1993 बैच के थे. यह एक होनहार छात्र थे जिसने शिक्षा के साथ-साथ खेलों में भी लगातार अच्छा प्रदर्शन किया. उन्होंने राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (90वां कोर्स इको स्क्वाड्रन) से स्नातक किया और बाद में जून 1997 में जाट रेजिमेंट की 17वीं बटालियन में नियुक्त हुए.

अनुज नय्यर निजी जीवन

उम्र (1999 तक)- 23 वर्ष
लंबाई- ज्ञात नहीं
वजन- ज्ञात नहीं
धर्म- हिन्दू
गृहनगर- दिल्ली, भारत
वैवाहिक स्थिति- अविवाहित
प्रेमी का नाम- N/A
पत्नी का नाम- N/A
आंखों का रंग- काला
बालों का रंग- काला
नागरिकता- भारतीय
राशि चक्र- कन्या राशि
किस लिए जाने जाते हैं- कारगिल युद्ध में शहीद हुए
शौक- ज्ञात नहीं
जाति- नय्यर

1999 के दौरान, कैप्टन अनुज नय्यर की यूनिट को LOC के साथ जम्मू-कश्मीर में तैनात किया गया था. 1999 में भारतीय सेना ने जम्मू और कश्मीर के कारगिल क्षेत्र में पाकिस्तानी सेना और अर्धसैनिक बलों द्वारा बड़े पैमाने पर घुसपैठ का पता लगाया. भारतीय क्षेत्र से पाकिस्तानी घुसपैठियों को खदेड़ने के लिए सेना ने तेजी से अपनी सेना जुटाई. 17 जाट रेजीमेंट में एक जूनियर कमांडर कैप्टन नय्यर इस क्षेत्र में तैनात 500,000 से अधिक भारतीय सैनिकों में से एक थे. उनके पहले बड़े ऑपरेशन में पॉइंट 4875 को सुरक्षित करना शामिल था, जिसे पिंपल सेकंड के नाम से भी जाना जाता है.

अनुज नय्यर परिवार

पिता- सतीश कुमार नय्यर
माता- मीना नय्यर
भाई- ज्ञात नहीं
बहन- ज्ञात नहीं
पत्नी- N/A

टाइगर हिल के पश्चिमी किनारे पर एक रणनीतिक पर्वत शिखर है जिस पर पाकिस्तानी घुसपैठियों ने कब्जा कर लिया था. अपने रणनीतिक स्थान के कारण पॉइंट 4875 को सुरक्षित करना भारतीय सेना के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता थी. यह चोटी समुद्र तल से 15,990 फीट की ऊंचाई पर खड़ी थी,  टाइगर हिल पर फिर से कब्जा करने के लिए पॉइंट 4875 से पाकिस्तानी घुसपैठियों को खदेड़ना बेहद जरूरी था. कैप्टन नैयर की  चार्ली कंपनी को 7 जुलाई 1999 को बिना किसी हवाई समर्थन की प्रतीक्षा किये इस चोटी को सुरक्षित करने का काम दिया गया था.

अनुज नय्यर शिक्षा

स्कूल- आर्मी पब्लिक स्कूल, धौला कुआं
कॉलेज/विश्वविद्यालय- नेशनल डिफेन्स अकादमी
शैक्षिक योग्यता- ग्रेजुएट

कैप्टन नय्यर ने विकट परिस्थितियों में सामने से नेतृत्व करते हुए दुश्मन के सामने अत्यधिक साहस और धैर्य दिखाया. उनका साहस और नेतृत्व उनके सैनिकों के लिए प्रेरणा था. उनकी टुकड़ी के सदस्यों पर उनका इतना गहरा प्रभाव था कि जाट रेजीमेंट के एक साथी सैनिक तेजवीर सिंह ने अपने बेटे का नाम अनुज नैयर के सम्मान में अनुज रखा. कैप्टन अनुज नय्यर को उनके असाधारण साहस, अदम्य में लड़ाई की भावना और सर्वोच्च बलिदान के लिए देश का दूसरा सर्वोच्च वीरता पुरस्कार ‘महा वीर चक्र’ दिया गया.

अनुज नय्यर पुरस्कार

महा वीर चक्र- 1999

ये भी पढ़ें-
Biography of Sania Mirza (Fighter Pilot)
Biography of Rupali Ganguly
What is Facebook
How to earn money from BHIM App