Advertisements
Advertisements
Advertisements
Homeइनफार्मेशनलफास्टैग क्या है | FASTag Kya Hai

फास्टैग क्या है | FASTag Kya Hai

Advertisements

फास्टैग क्या है, भारत में फास्टैग की शुरुआत कब हुई थी, फास्टैग कैसे काम काम करता है, फास्टैग के लिए आवेदन कैसे करें, फास्टैग को कैसे रिचार्ज करें, फास्टैग के क्या फ़ायदे हैं (Fastag Kya Hai, Fastag Kaise Kaam Karta Hai, Fastag Ke Liye Apply Kaise Kare, Fastag Ko Recharge Kaise Kare, Fastag Ke Kya Fayde Hain)

रोड से यात्रा करते समय आपने देखा होगा कि टोल प्लाजा पर गाड़ियों की कितनी लंबी कतारें लगी रहती है और कई बार तो इतना ट्रैफिक होता है कि आम आदमी को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है. वाहन चालकों की सुविधा को नजर में रखते हुए Toll Plaza Collect करने में कोई दिक्कत ना आए इसलिए Government of India के Road and Transport Ministry के अंतर्गत आने वाली संस्था NHAI ने FASTag Implement करने का Suggestion दिया. आम आदमी के परेशानियों को दूर करने के लिए भारत में National Highway Authority of India ने Electronic Toll System की शुरुआत की.

भारत में Fastag की शुरुआत सबसे पहले 2014 में की गई थी. इसके बाद पूरे देश में इसे लागू कर दिया गया. इस सिस्टम की सहायता से टोल प्लाजा में Toll Tax Pay करने में काफी आसानी हो गई. इसमें आपको अपनी गाड़ी पर Fastag लगाना होगा. फास्टैग किसी भी अधिकारी फास्टैग जारीकर्ता है या फिर बैंकों से आपको आसानी से मिल सकता है.

फास्टैग क्या है (Fastag Kya Hai)

यह Electronic Toll Collection का तरीका है. जो भी गाड़ियां राष्ट्रीय राजमार्ग से गुजरती है, उन्हें सरकार को Toll Tax देना पड़ता है, जिसके लिए सभी Highway पर जगह-जगह Toll Plaza Centre बनाया गया है. यहां से जाने वाली सभी गाड़ियों को Toll Tax देना पड़ता है. पहले यह Tax Cash के रुप में Collect किया जाता था लेकिन अब सरकार ने इसे Online कर दिया है. सरकार के Toll Tax Online करने की प्रक्रिया को ही फास्टैग कहते हैं.

इस नियम के अनुसार सभी चार पहियों वाली गाड़ियों को अपनी गाड़ी में Fastag लगवाना अनिवार्य है. इसके लिए गाड़ियों के मालिक को पहले Online Registration कराना पड़ता है, जिसके बाद उनके गाड़ियों के लिए Online Toll Tax जारी किया जाता है. इस प्रक्रिया के तहत किसी भी गाड़ी के मालिक को Toll Tax Cash मे Pay करने की जरूरत नहीं पड़ती है, बल्कि Fastag की मदद से यह प्रक्रिया Online Automatic Pay हो जाता है.

भारत में फास्टैग की शुरुआत कब हुई

हमारे देश में फास्टैग की शुरुआत 2014 में मुंबई और अहमदाबाद के बीच Highway पर पड़ने वाले Toll Tax Plaza से हुई थी. इसके बाद यह नियम 2015 में चेन्नई और बेंगलुरु के बीच पढ़ने वाले Highway के Toll Plaza पर लागू की गई. भारत में अब तक लगभग 332 टोल प्लाजा पर Fastag की शुरुआत हो चुकी है. जहां आप इसकी मदद से Toll Tax Pay कर सकते हैं.

फास्टैग कैसे काम काम करता है

इससे चार पहियों वाली गाड़ियों के Windscreen पर लगाया जाता है और इसमें Radio Frequency Identification लगा रहता है. जैसे ही आपकी गाड़ी टोल प्लाजा सेंटर की रेंज में आती है तो Toll Plaza पर लगा हुआ सेंसर आपके विंडस्क्रीन पर लगे हुए Fastag से संपर्क करता है और टोल टैक्स आपके Fastag Account से Automatic कट जाता है. जब आपके फास्टैग अकाउंट की राशि खत्म हो जाती है तो आपको इसे फिर से रिचार्ज कराना पड़ता है. इसकी अधिकतम सीमा 5 वर्ष तक होती है. इसका मतलब कि 5 वर्षों के बाद आपको अपने वाहन का Fastag Change कराना पड़ता है.

फास्टैग के लिए आवेदन कैसे करें

Fastag के लिए आवेदन करने के लिए आप अलग-अलग कंपनी की Website और Mobile Company को Use कर सकते हैं. यहां हम आपको बताएंगे कि आप Paytm Fastag के लिए कैसे आवेदन करें.

1. Paytm Fastag के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने फोन में Paytm Application Open करना होगा.

2. अब इसमें Buy Fastag वाले Option पर Click करना है.

3. Fastag Option पर Click करने के बाद आपकी Screen पर पेटीएम फास्टैग का Page खुलेगा, जिसमें आपको अपनी गाड़ी का नंबर डालना है.

4.  इसके बाद आपको अपनी गाड़ी के Registration Certificate की दोनों साइड की फोटो को Upload करना होगा.

Fastag

5. अब आपको अपने Delivery Address को Confirm करना होगा, जिस पर आपका पेटीएम फास्टैग भेजा जाएगा.

6. अब इसके बाद आपको Buy वाले Optipn पर Ckick करना है और Payment Option Choose करके Payment करना है.

7. 8 से 10 दिनों के अंदर Paytm Fastag आपके घर पर भेज दिया जाएगा.

फास्टैग को कैसे रिचार्ज करें

Fastag रिचार्ज करने के कई तरीके हैं. आप अपने Debit Card, Credit Card, RTGS या Net Banking से भी इसे Recharge कर सकते हैं. फास्टैग अकाउंट पर कम से कम ₹100 और अधिक से अधिक 1 लाख तक का रिचार्ज हो सकता है.

फास्टैग के क्या फ़ायदे हैं

1. टोल प्लाजा पर लंबी गाड़ियों की लाइनें, लोगों के पास खुले पैसे ना होने और सड़क पर लगने वाले जाम जैसी समस्याओं से निजात पाने के लिए Toll Plaza Tax को Online Pay करने की सुविधा शुरू की है. Fastag की मदद से हम Toll Tax Online Pay कर सकते हैं जिससे कि हमारे समय की काफी बचत होती है.

2. ऑनलाइन टोल टैक्स Pay करने की सुविधा से डीजल और पेट्रोल की भी बचत होती है.

3. Toll Tax Online Pay करने से Cash back की सुविधा भी प्राप्त होती है. एक रिपोर्ट के अनुसार 2016 और 2017 के बीच जिन लोगों ने Fastag की सहायता से Toll Tax Pay किया है उन्हें 10% तक का Cash Back वापस मिला है. इसी प्रकार साल 2017 और 2018 में Cash Back से 1.5% तक मिला है 2020 और 2021 में 2.5% Cash Back मिला है. यह कैशबैक 1 हफ्ते के अंदर आपके फास्टैग बैंक अकाउंट में वापस आ जाता है.

4. अगर आपकी गाड़ी पर फास्टैग लगा है तो जब भी आपके अकाउंट से टोल टैक्स कटेगा तो SMS की मदद से आपको इसकी जानकारी हो जाएगी.

ये भी पढ़ें-
Yono App Kya Hai
What is Storage Device
RELATED ARTICLES

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

%d bloggers like this: