Advertisements
Advertisements
Advertisements
Homeइनफार्मेशनलGPS क्या है और यह कैसे काम करता है | GPS Kya...

GPS क्या है और यह कैसे काम करता है | GPS Kya Hai

Advertisements

जीपीएस क्या है, जीपीएस का फुल फॉर्म क्या है, जीपीएस का इतिहास क्या है, जीपीएस कैसे काम करता है, जीपीएस का उपयोग क्या है, जीपीएस का महत्व क्या है (GPS Kya Hai, GPS Ka Full Form Kya Hai, GPS Ki History Kya Hai, GPS Ka Kya Use Hai, GPS Ki Importance Kya Hai)

क्या आपको पता है कि जीपीएस क्या है यह कैसे काम करता है. अगर नहीं तो हम आपको जीपीएस के बारे में पूरी जानकारी देंगे. पुराने समय में लोग तारों की सहायता से किसी भी रास्ते या Location के बारे में जानते थे और उन्हें कहां जाना है इस बात का पता लगाते थे. लेकिन अब दुनिया बहुत आगे निकल चुकी है और Time भी बदल चुका है. आज अगर हमें कहीं जाना है यह किसी जगह की Location के बारे में पता लगाना है तो हम केवल GPS Receiver की मदद से यह काम कर सकते हैं. आप चाहे दुनिया के किसी भी कोने में क्यों ना हो अब किसी भी Location के बारे में जीपीएस की मदद से पता लगा सकते हैं. यह जानकारी हमें Satellite द्वारा प्राप्त होती है. इस आर्टिकल में आपको बतायेंगे कि GPS Kya Hai.

जीपीएस क्या है (GPS Kya Hai)

यह एक Space Based Satellite Navigation System है जो Earth के किसी भी जगह की Location और Time की जानकारी देता है. यह System पूरी दुनिया के Military, Civil और Commercial Users को Important Capacity प्रदान करता है. जीपीएस 24 Satellite के Network समूह से बनी होती है जिसे US Department of Defense ने Earth के Orbit में रखा है. शुरुआत में इसे Military Applications में इस्तेमाल करने के लिए बनाया गया था लेकिन साल 1980 में गवर्नमेंट ने इस System को आम लोगों द्वारा इस्तेमाल करने का आदेश दे दिया. इसकी सबसे खास बात यह है कि यह किसी भी मौसम में दुनिया के किसी भी कोने में 24 घंटे काम कर सकता है. जीपीएस का इस्तेमाल करने के लिए किसी भी Subscription Fee या Setup Charges Pay करने की जरूरत नहीं पड़ती है.

Advertisements

जीपीएस का फुल फॉर्म क्या है (GPS Ka Full Form Kya Hai)

इस का फुल फॉर्म Global Positioning System है. इसकी मदद से आप अपनी Location की Information या किसी और जगह की Location के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

जीपीएस की Definition क्या है

यह System तीन चीजों से बना है- Satellite, Ground Stations और Receiver. इस System में Satellite तारों की तरह काम करते हैं और Ground Stations Radar का इस्तेमाल करके सेटेलाइट की स्थिति की जानकारी प्राप्त करता है. Receiver का काम सेटेलाइट द्वारा भेजे गए Signals को Receive करना होता है. receiver का काम Satellite के Distance को Calculate करना भी होता है.

जीपीएस का इतिहास क्या है

इसका सबसे पहले इस्तेमाल US Defense Department ने किया था. जीपीएस NAVSTAR को Refer करता है जो कि एक अमेरिकन नेवीगेशन सिस्टम है. Soviet Union ने सर 1957 में Sputnik I Satellite लॉन्च किया था जिससे कि बेहतर Geolocation Technology प्राप्त की जा सके. उसी प्रकार US Navy ने 1960 में Satellite Navigation के साथ Submarine की शुरुआत की जिसके बाद TRANSIT System का Invention किया गया. कई साल तक जीपीएस केवल Government के लिए इस्तेमाल किया जाता था लेकिन बाद में इसे आम लोगों के लिए भी उपलब्ध करवा दिया गया.

जीपीएस की बेसिक Structure क्या है

इसमें Three Block Configuration मौजूद है जिसके तीन Segments हैं-

1. GPS Satellite (GPS Satellite)

कई जीपीएस को Earth के चारों तरफ Six Orbits में Deploy किया जाता है जिसका Altitude Approximately 20,000 किलोमीटर होता है और यह Earth के चारों तरफ 12-hour-intervals में Move करती है.

2. Ground Control Stations (Control Segment)

इसका मुख्य काम Satellite Orbit को  Monitor, Control और Maintain करना होता है. इसका काम यह भी ध्यान रखना है कि Satellite की Deviation Orbit और GPS Timing से Tolerance Level के Under हो.

3. GPS Receiver (User Segment)

इसका मुख्य काम Satellite द्वारा भेजी गई Signal को Receive करना होता है, इसलिए इसे जीपीएस रिसीवर के नाम से जाना जाता है.

जीपीएस कैसे काम करता है

यह 24 Satellite की मदद से काम करता है. यह सभी सेटेलाइट पृथ्वी की सतह से 12,000 मील की दूरी पर Space में स्थित है. यह सेटेलाइट 12 घंटे में पृथ्वी का एक चक्कर लगाते हैं. इन की Speed बहुत ज्यादा होती है. कई Satellites को इस तरह से Space में फैलाया जाता है कि यह पूरी तरह से Earth को Cover कर पाए. GPS System में 3 Segment पर काम करता है.स्पेस  सेगमेंट, कंट्रोल सेगमेंट और यूजर सेगमेंट. जब भी हम कोई Location Search करते हैं तो सबसे पहले Satellite Signal पृथ्वी पर आते हैं इसके बाद यह Signal Receiver को मिलते हैं. receiver इन Signal का Distance और Time भी Measure करता है. इन सभी Segment के बाद जो जानकारी आपने अपने जीपीएस की मदद से Search की है वह आपके पास आ जाती है.

जीपीएस का क्या उपयोग है

1. Location- किसी जगह की स्थिति या पोजिशन का पता लगाना.

2. Navigation- एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचना या ले जाना.

3. Tracking- किसी भी Personal Movement पर नजर रखना.

4. Mapping- दुनिया का Map बनाना

5. Timing- Accurate Time का पता लगाना.

ये भी पढ़ें-
Barcode Kya Hai
What is Yono App

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

%d bloggers like this: