Advertisements
Advertisements
Advertisements
Homeइनफार्मेशनलस्टोरेज डिवाइस क्या है | Storage Device Kya Hai

स्टोरेज डिवाइस क्या है | Storage Device Kya Hai

Advertisements

स्टोरेज डिवाइस क्या है, स्टोरेज डिवाइस कितने प्रकार का होता है, स्टोरेज डिवाइस का क्या काम होता है, स्टोरेज डिवाइस के नाम, क्लाउड स्टोरेज क्या है (Storage Device Kya Hai, Storage Device Ke Types, Storage Device Ka Kya Kaam Hota Hai, Storage Device Ke Naam, Cloud Storage Kya Hai)

क्या आपने Storage Device के बारे में सुना है. बहुत कम ऐसे लोग हैं जिन्हें स्टोरेज डिवाइस के बारे में पता होता है. स्टोरेज डिवाइस क्या है, स्टोरेज डिवाइस का क्या काम होता है. यह एक ऐसा Device है जिसका इस्तेमाल Information या किसी Data को Digitally Store करने के लिए किया जाता है. स्टोरेज डिवाइस को Storage Medium या Storage Media के नाम से भी जाना जाता है. (Supercomputer Kya Hai)

Storage Device 

यह एक Hardware Device होता है, जिसे Information या Data को Digitally Store करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इनका मुख्य उद्देश्य Data को Store करना होता है. चाहे वह Temporarily हो या Permanently हो. Computer में यह Data Storage ऐसी जगह होते हैं जो कि डाटा को Electromagnetic और Optical Form में Store करते हैं. जिससे कि Computer Processor बड़ी आसानी से Data को Access कर सकता है. इस आर्टिकल के जरिए हम आपको बताएंगे कि Storage Device Kya Hai.

Advertisements

स्टोरेज डिवाइस क्या है (Storage Device Kya Hai)

यह एक ऐसा Device होता है, जिसका मुख्य उद्देश्य किसी Information या Data को Digitally Store करना होता है. यह उस Data को Temporarily या Permanently Store कर सकता है. स्टोरेज डिवाइस एक ऐसा कंप्यूटर Hardware है जिसका इस्तेमाल Data या Information को सुरक्षित करने के लिए किया जाता है. यह डाटा को Long-term या Short-term दोनों के लिए Store कर सकता है.

इन्हें Storage Media या Storage Medium भी कहा जाता है. यह Computer या Server के अंदर या बाहर होता है. किसी भी Device या Computer के लिए यह सबसे महत्वपूर्ण होता है. यह अलग-अलग आकार में उपलब्ध है.

स्टोरेज डिवाइस के कितने प्रकार हैं (Storage Device Ke Types)

जैसे कि आपको हम पहले ही बता चुके हैं कि स्टोरेज डिवाइस का इस्तेमाल किसी भी Information या Data को Digitally Store करने के लिए किया जाता है. यह मुख्यतः चार प्रकार के होते हैं-

1. प्राइमरी स्टोरेज डिवाइस (Primary Storage Device)

Primary Storage Device को Main Memory भी कहा जाता है. यह Direct Memory Central Processing Unit (CPU) के द्वारा Accessible होती है. यह स्टोरेज डिवाइस Volatile होता है. इनकी Memory Temporary होती है. इसका मतलब कि जब भी Device को Switch Off या Reboot किया जाता है तो Memory Erase हो जाती है. उदाहरण- RAM, ROM, Cache.

2. सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस (Secondary Storage Device)

Secondary Storage Device Central Processing Unit के द्वारा Direct Accessible नहीं होते हैं. ऐसे स्टोरेज डिवाइस को कंप्यूटर के साथ Connect करने के लिए Input और Output Channels का इस्तेमाल किया जाता है. क्योंकि यह External Storage Device होते हैं. Primary Storage Device की तुलना में Secondary Storage Device की Storage Capacity ज्यादा होती है. यह Non-volatile होते हैं. यह डाटा को Permanent Store करते हैं. इनमें दोनों ही Internal और External Memory पाई जाती है. उदाहरण- Hard Disk

3. टरसीयरी स्टोरेज डिवाइस (Tertiary Storage Device)

Tertiary Storage Device ज्यादा जरूरी नहीं होता है. इसमें Robotic Mechanism का इस्तेमाल किया जाता है, जो कि Storage Device में Removable Mass Storage Media को Mount या Dismount करती है. इस प्रकार की डिवाइस में Robotic Functions का इस्तेमाल होता है.

यह Automatically अपना काम करती है. इसका इस्तेमाल डाटा को Archive करने के लिए किया जाता है, क्योंकि इसमें Comprehensive Computer  Storage System होता है जो कि बहुत धीमा होता है. उदाहरण- Magnetic Tape, Optical Disc.

4. ऑफ-लाइन स्टोरेज डिवाइस (Off-line Storage Device)

Off-line Storage Device को Disconnected Storage या Removable Storage भी कहा जाता है. यह ऐसी Data Storage होती है जो Central Processing Unit के Control में नहीं होती है. किसी Computer के Access करने से पहले इसे किसी इंसान द्वारा Connect करना पड़ता है. उदाहरण- Floppy Disk, Zip Diskette, USB Flash Drive, Memory Card.

स्टोरेज डिवाइस के नाम (Storage Device List)

1. हार्ड डिस्क (Hard Disk)

यह एक ऐसा Data Storage Hardware Device है जो कि कंप्यूटर में डाटा को स्टोर करने में काम आता है. Software, Operating System और फाइलों को रखने के लिए हमें इसकी जरूरत पड़ती है. कई ऐसी कंपनियां है जो हार्ड डिस्क बनाती हैं, जैसे कि Seagate,  Western Digital (WD),  Hitachi, Lenovo, Toshiba आदि.

2. एसएसडी (SSD)

यह ज्यादा मात्रा में डाटा स्टोर करने के काम आता है और यह Immutable Storage Device होता है. यह सामान्य हार्ड डिस्क से तेजी से काम करता है इसकी Capacity गीगाबाइट तक होती है.

3. ब्लू रे डिस्क (Blue Ray Disk)

यह एक Optical Storage Media है जो कि High Quality वाले Video और File को रखने के काम आता है. यह 128GB तक के डाटा को Store कर सकता है.

स्टोरेज डिवाइस 

4. रैम (RAM)

यह एक तरह की Primary Memory होती है. इसकी मदद से कंप्यूटर डिवाइस एक समय में बहुत सारे काम कर सकता है. RAM की डाटा को बार बार देखा, लिखा और हटाया जा सकता है. यह एक Variable Memory होती है. जिसके कारण इसे Permanent Storage के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता.

5. रोम (ROM)

इसका इस्तेमाल Permanent Storage के लिए किया जाता है. इसके डाटा को हम बदल नहीं सकते. ROM केवल CPU द्वारा ही पढ़ा जाता है और CPU इसमें बदलाव कर सकता है. लेकिन सीपीयू इसे Direct नहीं पढ़ सकता. इसके लिए हमें पहले डाटा को RAM में भेजना पड़ेगा. उसके बाद ही ROM की मदद से CPU डाटा को पढ़ सकता है.

क्लाउड स्टोरेज क्या है (Cloud Storage Kya Hai)

यह एक तरह का Storage System ही होता है. इसमें अपने डाटा को अपनी डिवाइस पर रखने के बजाय किसी और Server पर Store किया जाता है. जिसे आप कभी भी Online Access कर सकता हैं.


RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

%d bloggers like this: