Advertisements

Omicron वेरिएंट के लिए वैक्सीन, भारत में Omicron का ख़तरा, भारत में कोरोना के मामले, भारत में Omicron के मामले, भारत में Omicron वेरिएंट की वैक्सीन, Vaccine for Omicron Variant, Corona Cases In India, Omicron Cases In India, Omicron Vaccine In India, Corona Virus, Omicron Variant of Corona Virus, COVID-19 Surge In India

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट Omicron ने दहशत फैला रखा है. हर दिन कोरोनावायरस के मामले में तेजी आ रही है. सभी देश कोरोनावायरस वैक्सीनेशन को बढ़ावा देते हुए इसे अहम बता रहे हैं. इसी बीच दवा निर्माता कंपनी फाइजर ने जानकारी दी है कि वह Omicron वेरिएंट के खिलाफ वैक्सीन बनाने पर काम कर रही है, जिसके अनुसार यह वैक्सीन संभवत मार्च तक उपलब्ध हो सकती है.

Omicron वेरिएंट की वैक्सीन

एक रिपोर्ट के मुताबिक, फाइजर कंपनी के सीईओ अल्बर्ट बुलाने का है कि फाइजर पहले से ही सरकारों की गहरी दिलचस्पी के कारण वैक्सीन का निर्माण कर रही है, क्योंकि कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामले चिंताजनक है, जिसमें बड़ी संख्या में Omicron के मामले भी शामिल है. उन्होंने बताया कि यह वैक्सीन मार्च में तैयार हो जाएगी. सीईओ का कहना है कि मुझे नहीं पता कि हमे इसकी आवश्यकता होगी या नहीं मुझे नहीं पता इसका इस्तेमाल किया जाएगा या नहीं.

कोरोना की बूस्टर डोज

फाइजर के सीईओ बुरला ने कहा कि मौजूदा समय में कोरोना वैक्सीन के दो डोज और फिर बूस्टर शार्ट ने कोरोनावायरस और Omicron के खिलाफ बेहतर सुरक्षा प्रदान की है, लेकिन Omicron वेरिएंट पर सीधे केंद्रित एक व्यक्ति ने एक ऐसे स्ट्रेन के सफल संक्रमण से भी रक्षा करेगा, जो अत्यधिक संक्रामक है. लेकिन इसके परिणामस्वरूप कई हल्के या गैर लक्षण मामले भी सामने आ सकते हैं.

भारत में कोरोना की बूस्टर डोज़

एक न्यूज़ एजेंसी के साथ सोमवार को इंटरव्यू में मॉडर्ना कंपनी के सीईओ स्टीफन बंसल ने बताया कि उनकी कंपनी एक बूस्टर डोज विकसित कर रही है, जो 2022 की सामने आ रहे Omicron समेत कोरोनावायरस पर असरदार होगी. बंसल ने बताया हम बूस्टर डोज को लेकर दुनिया भर के स्वास्थ्य नेताओं के साथ चर्चा कर रहे हैं.

Omicron वेरिएंट के लिए दवा

बीते वर्ष दवा कंपनी फाइजर ने दावा किया था कि उसकी कोरोना के खिलाफ़ प्रयोगात्मक गोली कोरोनावायरस के नए वेरिएंट Omicron के खिलाफ भी प्रभावी साबित हुई है. कंपनी ने बताया कि 2,250 लोगों पर किए गए शोध के पूर्ण निष्कर्ष में इस बात की पुष्टि की गई है कि उसकी कोविड रोधी गोली वायरस के खिलाफ प्रभावी है. कहा गया था कि कोविड-19 के शुरुआती लक्षणों के बाद उच्च जोख़िम वाले वयस्कों को दी गई दवा से संयुक्त रूप से अस्पताल में भर्ती होने और मौत के मामले में करीब 89 फ़ीसदी कमी दर्ज की गई है.

Advertisements

 

ये भी पढ़ें- कोरोना पॉजिटिव कर्मचारियों के लिए बड़ी राहत, योगी सरकार ने दिया बड़ा आदेश